आप अपने क्षेत्र की हलचल को चित्रों और विजुअल समेत नेटप्रेस पर छपवा सकते हैं I सम्पर्क कीजिये सेल नम्बर 0 94165 57786 पर I ई-मेल akbar.khan.rana@gmail.com दि नेटप्रेस डॉट कॉम आपका अपना मंच है, इसे और बेहतर बनाने के लिए Cell.No.09416557786 तथा E-Mail: akbar.khan.rana@gmail.com पर आपके सुझाव, आलेख और काव्य आदि सादर आमंत्रित हैं I

26.10.09

डॉ. 'पाठक' को 'सरस्वती साहित्य सम्मान' मिला

जींद(प्रैसवार्ता) न्यूजपेपर्स एसोसियेशन ऑफ इंडिया के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष, स्थानीय लब्ध प्रतिष्ठ, साहित्यकार, पत्रकार एवं कवि कुलाचार्य, हिन्दी साहित्य प्रेरक संस्था के पूर्व प्रधान एवं 'रवीन्द्र ज्योति' मासिक पत्रिका के सम्पादक डॉ. केवल कृष्ण पाठक को उनके सामाजिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक एवं कला के क्षेत्र में किए गए सृजनात्मक कार्यों तथा अपने व्यक्तित्व कृतित्व से देश व समाज को गौरवान्वित करने की भावना से प्रभावित होकर सरस्वती साहित्य वाटिका श्रीराम मार्ग (खजनी) गोरखपुर (उ.प्र.) द्वारा प्रेमचंद जयंती के अवसर पर 'सरस्वती साहित्य सम्मान-2008Ó से सम्मानित किया गया। श्री रामकृपाल गुप्त 'संस्था के अध्यक्ष ने डॉ. पाठक की दीर्घायु, सबलता तथा सदासयता की कामना करते हुए उनके जीवन पर्यन्त अपने व्यक्तित्व के माध्यम से देश व समाज में समता एवं सामजस्य स्थापित करने में समर्पित रहने की कामना की। इससे पहले हिन्दी साहित्य सम्मेलन, प्रयाग द्वारा सम्मेलन के स्वर्ण जयंती के अवसर पर आयोजित अयोध्या नगरी में सम्पत्यस्यमान अनुष्ठान एवं अखिल भारतीय विद्धत सम्मेलन में अन्न्तश्री विभूषित शंकराचार्य, ज्योतिष्पीठाधीश्वर स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती जी महाराज के कर कमलों द्वारा 'सारस्वत सम्मान' प्रदान किया गया। इस आयोजन में जींद के त्रिलोक चपल संपादक त्रिवाहिनी के साथ भरत भर से आए अन्य विद्वान साहित्यकार कवियों को भी सम्मानित किया गया। आगामी 31 अक्तूबर 2009 को पंजाब कला साहित्य अकादमी (रजि.) जालन्धर (पंजाब) के वार्षिक अधिवेशन में डॉ. पाठक को 'प्रतिष्ठाजनक विशेष अकादमी सम्मान' देने का निर्णय लिया गया है। साहित्य के प्रति आपका असीम उत्साह एवं असीम श्रद्धा का ही यह प्रतिफल है कि आपको देश के राजस्थान, बंगलोदश, छत्तीसगढ़, दिल्ली आदि भिन्न-भिन्न स्थानों से 78 अलंकारों से सम्मानित किया जा चुका है। आपको साहित्य रत्न, साहित्य मनीषी, राजभाषा मनीषी, हरियाणा रत्न, साहित्य सौरभ आदि मानद उपाधियों से सम्मानित किया गया है। आपके सम्मानित होने का रथ यहीं पर नहीं रूका, अपितु अभी तक अविरल गति से चलायमान है। साहित्य सेवी संस्था उचाना में आपको 'सजग प्रहरी', श्री अंगिरा शोध संस्थान जींद ने 'संवाद रत्न' एवं साहित्य मण्डल श्रीनाथद्वारा (राज.) ने सम्पादक शिरोमणी तथ सिरमौर कला संगम (हिमाचल प्रदेश) ने आपको डॉ. परमार पुरस्कार तथा कर्मवीर नामक उपाधियों से विभूषित किया है। सम्मान प्राप्ति पर शहर के प्रबुद्ध गणमान्य व्यक्ति दैनिक जगत क्रान्ति के महाप्रबंधक अजेय भाटिया, गंगापुत्रा टाइम्स (सांध्य दैनिक) के संपादक राजेन्द्र गुप्त, मासिक पत्रिका अंगिरापुत्र के संपादक श्री रामशरण युयुत्सु, त्रिवाहिनी त्रैमासिक के संपादक त्रिलोक चपल, हरबंस रल्हन निर्मोही, पवन कुमार उप्पल, रमेश रल्हन, राजेन्द्र मानव, बाल मुकुन्द भोला, ओ.पी. चौहान, नरेन्द्र अन्नी, बी.एन. तिवारी ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए डॉ. पाठक को बधाई दी।



0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें